Sundeep Maheswari Biography in Hindi – संदीप महेश्वरी का जीवन परिचय

आज की इस पोस्ट में ,हम आपको “Sundeep Maheswari Biography in Hindi – संदीप महेश्वरी का जीवन परिचय” के बारे में बताएँगे। Welcome to blouse designs 2023.

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अनुभव शुक्ला है ,और स्वागत है आप सभी का मेरे इस ब्लॉग moviezees में ,मैं अपनी हर पोस्ट को इस तरह से लिखता हूं कि पढ़ने वाला यह समझे कि मैं उससे बातें कर रहा हूं ।

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अगर  आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं।

“जब कोई साधारण इंसान कुछ बड़ा कर देता है ना तो अपने आप ही वो लोगों के लिए एक प्रेरणा बन जाता है”

एक लड़का किराए के दो कमरे के छोटे से मकान में रहता था।

Sundeep Maheswari full movie download
Sundeep Maheswari

जब वह बहुत छोटा था तब पड़ोस के एक बच्चे के पास लाल साइकिल देखकर उसका मन मचल गया।

पिता से साइकिल दिलाने की जिद की तो पिता ने कहा मैं कोई टाटा बिरला थोड़ी ना हूं  जो तुम्हारी सारी फरमाइश पूरी करता रहूं।

उसने मां से जाकर पीछा यह टाटा बिरला क्या होता है ?

तो मां ने पीछा छुड़ाते हुए बोला यह ऐसे लोग हैं जिनके पास जो सारे पैसे होते हैं।

उसने तुरंत फैसला कर लिया कि उसे भी टाटा बिरला की तरह ही बनना है।

उसके फैसले पर सभी हंसने लगे और उसका मजाक बनाने लगे।

जब संदीप लगभग 15 साल के थे तब उनके परिवार पर एक बड़ी मुसीबत आ गई उनके पिता का लगभग 30 साल पुराना  एलुमिनियम का बिजनेस था ।

पार्टनर के साथ झगड़े की वजह से उन्हें वह बिजनेस छोड़ना पड़ा।

यह संदीप के परिवार पर एक बड़ा संकट था । बिजनेस छोड़ने के बाद संदीप के पिताजी भी चिंता में रहने लगे थे।

अब संदीप को लगा कि कुछ करना चाहिए, तो वह छोटे-मोटे काम करने लगे।

एसटीडी पीसीओ चलाया लेकिन नहीं चला, कॉल सेंटर में नौकरी के लिए इंटरव्यू दिए लेकिन कहीं सलेक्शन नहीं हुआ।

हर तरफ से संदीप को हार का मुंह देखना पड़ रहा था। वह पूरी तरह से टूटते जा रहे थे।

उसी बीच वे एक सेमिनार में गए तीन घंटे में वहां उन्हें कुछ समझ नहीं आया लेकिन अंत में जब एक लड़के ने स्टेज पर खड़े होकर बताया कि उसकी उम्र 21 साल है और वह महीने का ढाई लाख कमाता है।

तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। उन्होंने सोचा जब 21 साल के लड़के के लिए महीने का ढाई लाख कमाना आसान है ,तो उनके लिए क्यों नहीं और वही संदीप के जीवन का टर्निंग प्वाइंट था।

संदीप की रुचि मॉडलिंग और फोटोग्राफी में थी।

उन्होंने मॉडलिंग का एक कोर्स किया और मॉडलिंग की दुनिया में आ गये।

संदीप ने कॉलेज लेवल पर मॉडलिंग शुरू की जब उस फील्ड में थोड़ा घुसे तो पता चला कि हर दूसरा आदमी मॉडल बनना चाहता है।

Models का शोषण देखकर उन पर काफी गहरा प्रभाव हुआ और उन्होंने मॉडलिंग की दुनिया में जूझ रहे मॉडल्स की मदद करने की ठान ली।

इसीलिए उन्होंने मैकस ऑडियो विजुअल नाम की कंपनी खोली जो मॉडल्स के पोर्टफोलियो बनाती थी।

लेकिन इस कंपनी में भी उन्हें ज्यादा सफलता नहीं मिली और वह फेल हो गए।

उन्होंने हार नहीं मानी और मेहनत करते रहे। अब उन्होंने फोटोग्राफी सीखी और 2003 में मात्र 10 घंटे में लगभग 100 मॉडल्स के 10,000 फोटो खींचे और एक विश्व रिकॉर्ड बना डाला।

इस रिकॉर्ड से संदीप को काफी पहचान मिली वर्ष 2006 में उन्होंने अपनी वेबसाइट लांच किया।

शुरुआत  मैं कुछ ही फोटोस थे और थोड़े ही फोटोग्राफर थे मगर आज उस वेबसाइट पर विश्व के सबसे ज्यादा भारतीय के चित्र हैं।

हर साल में कंपनी करोड़ों कमाती है। इतनी सफलता पाने के बाद भी संदीप रुके नहीं और उन्होंने अपने जीवन के अनुभव से युवाओं को प्रोत्साहित करने का मिशन शुरू किया।

आज भी वें जगह-जगह मोटिवेशनल सेमिनार करते हैं और लाखों लोगों को अपने सपने साकार करने की प्रेरणा देते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *